कैसे जाने? दूध पिलाने के बाद बच्चे का पेट भरा या नहीं।

बच्चे ने मां के स्तनों से मुंह हटा लिया हो सकता है मां के स्तनों से दूध आ ही न रहा हो और वह भूखा रह गया हो, फिर भी रोया न हो। वह रोये या नहीं, मगर उसके पेट की आवश्यकता तो पूरी नहीं हुई।

बच्चा भूखा है या नहीं कैसे जाने।

1. पहला तरीका यह है की मां का दूध पिलाने के तुरंत बाद कुछ मात्रा में बोतल का दूध भी बच्चे को पीने को दें। वह जितना भूखा होगा, उतना पी लेगा, बाकी रहने देगा। इस बोतल वाले दूध को बाद में, अगली ‘फीड' के समय प्रयोग में न लाएं, फेंक दें। बोतल को उबाल कर रख दें। इस प्रकार बच्चे का पेट तो भर गया। 

2. दूसरा तरीका यह है कि मां एक बार अपना दूध पिलाए अगली ‘फीड' के समय बोतल का बारी-बारी ऐसा करें। एक बार अपना, एक बार ऊपर का इससे मां की छाती में अगली ‘फीड' के लिए दूध पूरी मात्रा में तैयार हो जाया करेगा। इससे बच्चा किसी भी हालत में भूखा, अतृप्त नहीं रहना चाहिए।

चूने का पानी : चूने का पानी बनाकर भी दूध में मिलाने की डॉक्टर सलाह देते हैं। उनके अनुसार 10 ग्राम चूना लेकर इसमें 200 ग्राम पानी मिलाएं। चूना ऐसा लें, जो घुलनशील हो। इस पानी को थोड़ा-थोड़ा करके दूध में मिलाएं। यह दूध जो बच्चा पिएगा, छैना तो बनेगा, मगर पानी वाला।

बारली का पानी : बारली का पानी मिलाने से भी दूध का स्वभाव बदला जा सकता है। इस प्रकार जो छैना बनेगा, वह भी सख्त नहीं होगा। पच जाएगा।

पानी की मात्रा में परिवर्तन : यदि गाय का दूध शुद्ध मिला है, तब आप पानी की मात्रा में परिवर्तन करें। नवजात शिशु या महीना, डेढ़ महीना के शिशु को जब भी गाय के दूध पर लाएं, बराबर का पानी न डालकर पानी की मात्र को डेढ़ गुना कर दें। इस प्रकार तैयार किया गया दूध चार मास तक के बच्चे को दे सकते हैं। फिर इसे धीरे-धीरे बराबर का पानी डालकर शिशु को पिलाना शुरू करें।

इस दूध में, जैसा ऊपर बताया है, चूने का पानी अथवा बारली का पानी मिलाकर आप बच्चे के लिए सुपाच्य बना सकते हैं।

निष्कर्षतः हम यही कहना चाहेंगे कि मां को चाहिए कि वह शिशु के पालन को एक पुनीत कर्तव्य मानकर चले। उसके पालन-पोषण में कोई कमी न आने दे, यही शिशु और मां दोनों के लिए हितकर है।

(और पढ़े:- माँ का दूध और ऊपरी दूध में क्या अंतर होता हैं)

(और पढ़े:- पौष्टिक आहार क्या है | जच्चा-बच्चा के लिए पौष्टिक आहार क्यों जरुरी है)

  • Tags

You can share this post!

विशेषज्ञ से सवाल पूछें

पूछें गए सवाल